Shayari

Love Shayari

 आजा तेरी नज़र उतार लू ,  ये तेरी उलझी झुलफें संवार लू।   ये ज़िन्दगी कम पड़ जाएगी ,  तुझे इतना